योग की ध्यानावस्था में जाने की विधि है राजयोग – उइके

हाइलाइट्स :-

  • अन्तराष्ट्रीय योग दिवस पर ऑनलाइन आयोजित बेबीनार में राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष ने लिया भाग

  • ऑनलाइन बेबीनार के माध्यम से दिया स्वस्थ रहने का संदेश

  • मन को स्वस्थ व शक्तिशाली बनाने के लिए राजयोग मेडिटेशन जरूरी – बीके शिवानी

  • विधानसभा अध्यक्ष ने कहा – राजयोग के द्वारा परमात्मा को पा सकते हैं

  • योग के लिए सही मार्गदर्शन और सही पद्धति का ज्ञान होना आवश्यक

नवयुग टाइम्स, छत्तीसगढ़, रायपुर। 21 जून 2021
रायपुर। योग स्वस्थ जीवन जीने की कला है। योग को प्रायः लोग आसन और प्राणायाम तक ही सीमित मान लेते हैं। परंतु यह तो प्रारंभिक विधि मात्र है। योग की ध्यानावस्था में जाने की विधि को समझने के लिए राजयोग मेडिटेशन का ज्ञान होना आवश्यक है।
उक्त उद्गार छत्तीसगढ़ के राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उइके ने ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा योग दिवस के अवसर पर आयोजित ऑनलाइन बेबीनार को सम्बोधित करते हुए कहा।

  • योग से हमारे कर्म श्रेष्ठ बनते हैं – शिवानी

जीवन प्रबंधन विशेषज्ञा ब्रह्माकुमारी शिवानी दीदी ने कहा कि योग से हमारे कर्म श्रेष्ठ बनते हैं औरश्रेष्ठ कर्म से हमारी स्थिति श्रेष्ठ बनती है। योग और कर्म का आपस में गहरा संबंध है। उन्होंने कहा कि हमें सुबह की शुरूआत श्रेष्ठ विचारों से करनी चाहिए। जिस तरह से शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम जरूरी है। उसी प्रकार मन को स्वस्थ व शक्तिशाली बनाने के लिए राजयोग मेडिटेशन जरूरी है।

  • परमात्मा से शक्ति लेना ही राजयोग – महंत

विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने कहा कि परमात्मा से शक्ति लेना ही राजयोग है। राजयोग के द्वारा ही हम परमात्मा को पा सकते हैं। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्थान अपने हजारों सेवाकेंद्रों के माध्यम से पुरे विश्व में शांति स्थापन करने का महत्वपूर्ण कार्य कर रही है।

  • बड़ा महत्व है योग का – सिंहदेव

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टी.एस.सिंहदेव ने कहा कि शरीर की शुद्धता के लिए योग का बड़ा महत्व है। योग एक तरह का व्यायाम ही है। इसे नियमित रूप से करने से स्वास्थ्य में बहुत लाभ मिलता है। योग के लिए सही मार्गदर्शन और सही पद्धति का ज्ञान होना जरूरी है।

  • स्वस्थ रहने के लिए दवाई और योग जरूरी – भेड़िया

महिला एवं विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने कहा कि हमारी दिनचर्या योग और व्यायाम से ही शुरू होती है। स्वस्थ रहने के लिए दवाई के साथ-साथ योग भी जरूरी है।

  • रोगमुक्त विश्व बनाने में बन सकते हैं मददगार – बृजमोहन

ब्रह्माकुमारी संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन भाई ने कहा कि योग हमें रोगी और भोगी जीवन से अलग करता है। यदि हम सभी लोग योगी बनें तो हम रोगमुक्त विश्व बनाने में मददगार बन सकते हैं।

  • तीन बातों पर ध्यान देना आवश्यक – कमला दीदी

ब्रह्माकुमारी संस्था की छत्तीसगढ़ की क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने कहा कि हमें स्वस्थ रहने के लिए तीन बातों पर ध्यान देना आवश्यक है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए मन का शांत होना, निर्भय और शक्तिशाली होना जरूरी है। निगेटिव विचार हमारे मन को कमजोर बना रहे हैं। उन्होंने ऑनलाइन बेबीनार के माध्यम से सभी को राजयोग के द्वारा गहन शांति की अनुभूति कराई।
बेबीनार के अंत में रायपुर की लोकप्रिय गायिका कुमारी शारदा नाथ ने अपने गीतों के माध्यम से मंत्रमुग्ध कर दिया। ऑनलाइन बेबीनार का कुशल संचालन व प्रबंधन बीके रश्मि बहन ने किया।

Check Also

प्रकृति को स्वच्छ बनाने से पहले मन को स्वच्छ बनाना होगा

🔊 Listen to this हाइलाइट्स :- बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के प्रांगण में ब्रह्माकुमारी संस्था …

Navyug Times