आबू रोड में पांच दिवसीय महाशिवरात्रि महोत्सव का आयोजन

फोटो : आबू रोड स्थित एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय परिसर में बनाए गए महाशिवरात्रि मेले का रिबन काटकर उद्घाटन करते हुए ब्रह्माकुमारी संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका दादी रतनमोहिनी तथा अन्य।
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य।
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य।
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य।
  • दादीजी के साथ अनेक विशिष्ट अतिथियों ने शिवध्वजा रोहण कर व रिबन काटकर किया मेले का उद्घाटन

  • महाशिवरात्रि के अवसर पर ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा बनायी गई झांकी बनी मुख्य आकर्षण का केंद्र

  • मेले का मुख्य आकर्षण – हाइड्रोलिक शिवलिंग व दुखी मानव की झांकी

  • मेले में दिखी आध्यात्मिकता की चमक

  • फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य।
  • नवयुग टाइम्स, प्रतिनिधि।
    18/02/2020
  • आध्यात्मिकता से सरोवर हुआ एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय

फोटो : आबू रोड स्थित एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय परिसर में बनाए गए महाशिवरात्रि मेले का दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन करते हुए दादी रतनमोहिनी, बीके करूणा भाई, बीके भूपाल भाई, बीके भरत भाई, बीके ऊषा बहन, माधव यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर, सुरेश सिंदल तथा अन्य।

आबू रोड। महाशिवरात्रि के पावन पर्व के अवसर पर आबू रोड स्थित एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय परिसर में ब्रह्माकुमारी संस्था के सोशल एक्टिविटी ग्रुप द्वारा शिवरात्रि महोत्सव का आयोजन किया गया। इस महोत्सव में परमात्मा की सत्य पहचान देने के लिए झांकी बनायी गई और इसके साथ ही खेल-खेल में मूल्यों को जीवन में अपनाने की शिक्षा दी गई। झांकी में मुख्य आकर्षण का केंद्र पहाड़ों के बीच से निकलता हुआ शिवलिंग और दुखी मानव की झांकी रही। इस झांकी का उद्घाटन ब्रह्माकुमारी संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका दादी रतनमोहिनी सहित अनेक मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इससे पूर्व पांच दिवसीय महाशिवरात्रि महोत्सव मेले का उद्घाटन दादी जी के द्वारा रिबन काटकर किया गया। इस अवसर पर दादी जी ने अनेक मुख्य अतिथियों के साथ शिवध्वजा रोहण किया और परमात्मा का संदेश दिया।

फोटो : समारोह में उपस्थित शहर के गणमान्य नागरिक।
  • परमात्मा को सच्चे दिल से याद करने से सुख और शांति की अनुभूति होती है – दादी

दादी जी ने शिवजयंति पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वर्तमान समय कलियुग की घोर रात्रि है। जब परमात्मा परकाया प्रवेश कर सृष्टि की पुनस्र्थापना का कार्य करते हैं। परमात्मा को याद करने से आत्मा शक्तिशाली बनती है जिससे वह सहज ही बुराईयों पर विजय प्राप्त कर आने वाली दुनिया की स्थापना में मददगार बन जाती है। परमात्मा को सच्चे दिल से याद करने से सुख और शांति का अनुभव होता है। संस्था की कोषाध्यक्षा ईशु दादी ने कहा कि परमात्मा को पहचानकर आपस में स्नेह और प्यार से रहना ही सच्ची शिवरात्रि मनाना है।

फोटो : मेले में बनायी गई रंगोली का एक दृश्य।
  • ज्ञान के प्रकाश से आत्मा की ज्योत जगती है – ऊषा

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए ब्रह्माकुमारी संस्था की वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी ऊषा बहन।

ब्रह्माकुमारी संस्था की वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके ऊषा बहन शिवजयंति पर्व की हार्दिक बधाई देते हुए कहा जब परमात्मा इस सृष्टि पर आकर ज्ञान का प्रकाश संसार में फैलाते हैं तो उस ज्ञान से आत्मा की ज्योत जगती है। आत्मा की ज्योति जगने से ही हम सभी आत्माओं का दिव्य व अलौकिक जन्म हो जाता है।

  • ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा एक ईश्वर, एक विश्व और एक परिवार का संदेश दिया जा रहा है – करूणा

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए ब्रह्माकुमार करूणा भाई।

संस्था के मल्टीमीडिया के चीफ बीके करूणा भाई ने बताया ब्रह्माकुमारी संस्था पिछले 84 वर्षों से परमात्मा शिव का जन्मदिवस मनाते आ रही है। परमात्मा का सृष्टि परिवर्तन करने का कार्य पिछले 84 वर्षों से चल रहा है। यहां एक ईश्वर, एक विश्व और एक परिवार का संदेश दिया जाता है। भगवान कैसे सृष्टि का परिवर्तन अपने समय पर करते हैं वह इस मेले के द्वारा दिखाया गया है। शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल भाई ने कहा कि परमात्मा जब अवतरित होते हैं तो इस कांटों रूपी दुनिया को स्वर्ग बना देते हैं।

  • किसी भी कार्य को करने के लिए समर्पण भाव आवश्यक – वाइस चांसलर

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए माधव यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ.संजीव।

माधव युनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ.संजीव ने कहा कि आबू रोड और ब्रह्माकुमारी आश्रम दोनों पर्यावाची है। हम सब मानते हैं कि शांति के सिवाय और कोई दूसरा रास्ता हो नहीं सकता है। ऐसे में आशा की किरण ब्रह्माकुमारी संस्थान से मिलती है। किसी भी कार्य को करने में समर्पण भाव के साथ धैर्य और शांति बनाए रखना भी उतना ही आवश्यक है।

  • …असीम ऊर्जा और शांति की प्राप्ति होती है – सिंदल

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए आबू रोड नगरपालिका के चेयरमैंन सुरेश सिंदल।

आबू रोड नगरपालिका के चेयरमैन सुरेश सिंदल ने कहा ब्रह्माकुमारी संस्था में आने से मुझे असीम ऊर्जा और शांति की प्राप्ति होती है। आध्यात्मिक शक्तियां मानव के कल्याण के लिए कितनी आवश्यक है वह इस मेले में दिखाया गया है।

  • हमारे लिए गर्व की बात है – नर्गिस

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए आबू रोड नगरपालिका के नेता प्रतिपक्ष नर्गिस काम्याखनी।

आबू रोड नगरपालिका की नेता प्रतिपक्ष नर्गिस काम्याखनी ने कहा ब्रह्माकुमारी संस्था शांति का प्रतीक है। यह पहली ऐसी संस्था है जिसकी बागडोर महिलाओं के हाथ में है। यह हमारे लिए गर्व की बात है कि ब्रह्माकुमारी संस्था का मुख्यालय आबू रोड में स्थित है।

  • परमात्मा की सत्य पहचान देना मेले का उद्देश्य – भरत

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव को सम्बोधित करते हुए ब्रह्माकुमार भरत भाई।

ब्रह्माकुमारी संस्था के सोशल एक्टिविटी ग्रुप के अध्यक्ष व इंजीनियर ब्रह्माकुमार भरत भाई ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि परमात्मा हम सभी आत्माओं का परमपिता है। हमारा सम्बन्ध परमात्मा से कैसे जुड़े इसके लिए शिवरात्रि मेले में सुंदर झांकी बनायी गयी है। इस झांकी के द्वारा परमात्म की सत्य पहचान और धरा पर दिव्य अवतरण कैसे होता है इस दृश्य को मेले में दिखाया गया है।

  • तिलक व गुलदस्ते से हुआ स्वागत

इस समारोह को एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय के पिं्रसीपल सहित अनेक मुख्य अतिथियों ने सम्बोधित किया। सभी अतिथियों का आभार प्रगट बीके कोमल भाई ने किया व मंच का कुशल संचालन राजयोग शिक्षिका बीके चंदा बहन ने किया। इससे पूर्व सभी अतिथियों का स्वागत तिलक व गुलदस्ते भेंटकर किया गया।

फोटो : महाशिवरात्रि महोत्सव में मंच का कुशल संचालन करते हुए राजयोग शिक्षिका बीके चंदा बहन।
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य
फोटो : शिवरात्रि महोत्सव मेले का दृश्य।

Check Also

वर्तमान समय युवाओं को ज्यादा जिम्मेवार एवं जागरूक होने की आवश्यकता

🔊 Listen to this कोरोना महामारी ने बदला जीवन का स्वरूप आगे की जिन्दगी और …

Navyug Times